मुझसे दूर हुए वो मेरे अपने

Apne Dur Huye Shayari

ज़िन्दगी में आते हैं कुछ दौर इस तरह
सावन में आते हैं तूफ़ान जिस तरह
मुझसे दूर हुए वो मेरे अपने कुछ इस तरह
जैसे मरने के बाद जिस्म से रूह की तरह